Saturday, April 13, 2024
HomeAstrologyघर में जरूर रखे इन भगवानो की मुर्तिया । जाने क्यों करें...

घर में जरूर रखे इन भगवानो की मुर्तिया । जाने क्यों करें पूजा

- Advertisement -
- Advertisement -
3
(10)

पूजा का अर्थ है ईश्वर की आराधना, जो हम घर या मंदिर में जाकर कहीं भी कर सकते हैं। ईश्वर की आराधना से ही ईश्वर का आशीर्वाद प्राप्त होता है। सुबह शाम चाहे 5 मिंट ही या उस से भी कम भी अगर हम सच्चे दिल से पूजा करें तो ईश्वर का आशीर्वाद अवश्य प्राप्त होता है। आइये आज हम चर्चा करते हैं पूजा से होने वाले लाभों की:—

श्री बजरंग बली

परिवार या कैरियर में समस्या, बीमारी से छुटकारा पाने के लिए बजरंग बली की पूजा अर्चना अवश्य करें

Lord Hanuman Idol

सबसे पहले बात करते हैं बजरंग बली जी की। हिन्दू लोग इनकी वानर के रूप में पूजा करते हैं। हनुमान जी ब्रह्मचारी थे और साथ ही राम भक्त भी थे।

शादीशुदा जीवन में समस्या हो, परिवार या कॅरिअर में समस्या हो, दिल की कोई बीमारी हो, मानसिक बीमारी जैसे अवसाद, चिंता या डर लगना, प्रेम में विफलता, मन दुखी हो तो हनुमान जी की पूजा अवश्य फल देती है। शनि की महादशा में भी हनुमान जी की पूजा करने से लाभ प्राप्त होता है।

यदि आप राहु के लक्षण और उपाय जानना चाहते हैं तो यहां पर क्लिक करें

माँ सरस्वती

व्यापार को बढ़ावा देने हेतु व् विद्या प्राप्त करने के लिए माँ सरस्वती को अपने घर में स्थापित कर पूजा अर्चना करें

Goddess Sarswati Idol

माँ सरस्वती ब्रह्मा जी की पत्नी तो हैं ही साथ ही देवी हैं कला, संगीत, दर्शन शास्त्र, ज्ञान और विद्या की। परीक्षा से पहले तो देवी सरस्वती की पूजा करना अच्छा माना ही जाता है ओर जो लोग ज्ञान की खोज में रहते हैं उनको तो सरस्वती की पूजा अर्चना जरूर करनी चाहिए।

शिरडी वाले साई बाबा

बिगड़े काम बनाने के लिए साईं बाबा को घर में स्थापित कर पूजा अर्चना करें

Shirdi Saai Baba Idol

शिरडी के साई बाबा को अगर प्रेम, श्रद्धा एवं संयम से याद करेंगे तो परिणाम भी जल्दी ही हासिल होंगे। साई बाबा की पूजा आपके जीवन कठिन रास्तों में आपका मार्गदर्शन करती है और धीरे धीरे आपको मोक्ष के रास्ते पर ले जाती है।

साई बाबा सच्चे और अच्छे दिल के मालिक हैं और आपके प्रेम से चढाये हुए फल, फूल, पत्ते यहाँ तक कि पानी से भी प्रसन्न हो जाते हैं। उनको न तो धन की जरूरत है न ही किसी अन्य वस्तु की।

माँ काली

माँ काली की पूजा अर्चना अति आवश्यक है अतः इन्हें तुरंत ही घर में स्थापित करें

Goddess Kali Idol

माँ काली की पूजा शक्ति के कई रूपों में की जाती है। काल शक्ति रूप यानि समय की शक्ति, विद्युत् शक्ति रूप यानि चेतना की विद्युत् शक्ति, योग शक्ति रूप यानि योग की आंतरिक शक्ति, महाकाल शक्ति यानि शिव में निहित शक्ति।इन सब शक्तियों पर विजय पाने के लिए हमें सच्चे मन से माँ काली की पूजा अर्चना करनी चाहिए।

भोले बाबा

शिवजी को भोलेनाथ भी कहते हैं, क्योंकि वे दिल से ही भोले भाले हैं कि भक्तों की सच्चे मन से की गयी पूजा से उनका मन द्रवित हो जाता है। वे उनको मनचाहा वरदान देते हैं।⁠⁠⁠⁠⁠⁠⁠⁠

Lord Shiva Idol

शिवजी के पास शक्तियों का भण्डार है। वे सब दुखों के नाशक हैं, जीवन में फैले जहर को पीते हैं और मन से अज्ञानता, अहंकार, भ्र्म, लगाव जैसी बुराइयों को दूर करके हमारे मन में आध्यात्मिक शक्ति जगाते हैं।

भगवान श्री कृष्ण

जीवन में प्रेम पाना हो तो भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना करें

Lord Shri Krishan Idol

भगवान् श्री कृष्ण कर्म के प्रतीक माने जाते हैं। उनके द्वारा उद्धरित भगवद गीता हिंदुयों के लिए पूजनीय है। श्री कृष्ण ने कर्म करने और फल की इच्छा न रखने की जो शिक्षा दी उसको यदि उदाहरण समझें तो हमे सच्चे मन से पूजा करनी चाहिए नाकि फल प्राप्ति हेतु।

श्री कृष्ण की पूजा मन में प्रेम उत्पन्न करती है, सब दुखों अवसादों का नाश करती है,पापों से मुक्क्ति दिलाती है और साथ ही जन्म मरण के चक्करों से छुटकारा दिलाती है।

गणेश जी

अपने जीवन में कोई भी काम आरम्भ करने से पहले और अपने दुखो के अंत के लिए गणेश जी की पूजा अवश्य करें

गणेश जी भगवन शिव के पुत्र थे, जो प्रतीक माने जाते हैं बुद्धिमता, खुशहाली और सौभाग्य का। हर अच्छे काम  की शुरुआत गणेश जी की पूजा से करते हैं। क्योंकि गणेश जी की पूजा हर रूकावट दूर कर देती है। इनकी पूजा से अहंकार का नाश होता है, सुख समृद्धि मिलती है, ज्ञान की प्राप्ति होती है और जीवन में सुख समृद्धि आती है।

दुर्गा माता

राहु और केतु की दिशा ठीक करने के लिए माँ दुर्गा की प्रतिदिन पूजा अर्चना करें

Goddess Durga Idol

माँ शेरां वाली को माँ दुर्गा भी कहकर पुकारते हैं। कहते हैं माँ दुर्गा की पूजा यदि गणेश जी के साथ की जाये तो यह राहु और केतु की टेढ़ी चाल को भी बदल सकती है। काम-धंधे में अड़चन, पति पत्नी या बच्चों के साथ तनाव या रोजमर्रा की परेशानियां राहु केतु की उलटी चाल की वजह हैं। लेकिन माँ दुर्गा की गणेश जी के साथ पूजा से इनके दुष्प्रभाव को खत्म किया जाता है। माँ अम्बे राहु केतु की उलटी चाल को भी सीधा करने में माहिर हैं।

कृप्या ध्यान दें, अगर आप किसी भी भगवान् की मूर्ति अपने घर में स्थापित करना चाहते है तो आप इन्हें ऑनलाइन आर्डर करके भी मंगवा सकते है । ये सभी online website Flipkart पर वाज़िद दामो में उपलब्ध है आर्डर करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 3 / 5. Vote count: 10

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

9 COMMENTS

  1. Puja means worshipping the deity, whether you do it in a temple or at your home. Worship leads to blessings. Even if you have 5 minutes, you should do it daily.

  2. We encircle ourselves with profound powers’ contemplations and vibrations while we perform puja. These profound energies endeavor to dispose of the terrible impacts in our lives and encompass us with great energy, which can offer us satisfaction, money related flourishing, and a more clear association with the Heavenly, our actual quintessence.

  3. अपने यहां पर भगवान की मूर्तियों को लेकर जो भी बात बताई है यह सब बहुत ही प्रभावशाली और प्रशंसा नहीं है हम जानना चाहते हैं कि यदि किसी वजह से भगवान की कोई मूर्ति खंडित हो जाती है तो क्या उसको घर पर ही रखना चाहिए या फिर बाहर निकलना चाहिए इस बारे में हमें अपनी राय दें ताकि भगवान की मूर्तियों को लेकर हमें कुछ और जानकारियां प्राप्त हो सके धन्यवाद।

  4. मैं यहां पर सरस्वती माता की पूजा करने के फायदे के बारे में जाना है मैं जानना चाहती हूं यदि मैं एग्जाम से पहले सरस्वती माता की सुबह जल्दी उठ के नियम अनुसार पूजा करके जाऊं तो क्या मेरा एग्जाम बहुत अच्छा होगा क्या इसके परिणाम स्वरुप में मुझे पूरी क्लास में सम्मान मिलेगा ??

  5. जैसा कि आपने बताया है की माता काली की पूजा करनी चाहिए व्यक्ति को अनेक शक्तियों की प्राप्ति होती है हम जानना चाहते हैं की माता काली की पूजा करने की कोई विधि होती है या फिर हम सच्चे मन से किसी भी प्रकार माता काली को प्रसन्न कर सकते हैं ?

  6. हम जानना चाहते हैं कि घर के अंदर मंदिर का मुख किस दिशा की ओर रखना चाहिए जिससे घर सुख समृद्धि से भर जाए

  7. हम भगवान की मूर्तियों को लेकर यह बात पूछना चाहते हैं की क्या हम हनुमान जी की मूर्ति की स्थापना अपने घर पर कर सकते हैं क्या ऐसा करने के बाद हम हनुमान जी की पूजा अर्चना कर सकते हैं और हनुमान जी की मूर्ति यदि अपने घर पर स्थापना कर सकते हैं तो हनुमान जी की मूर्ति को किस दिशा की ओर स्थापित करना चाहिए ??

  8. आपने यहाँ पर मूर्ति स्थापना को लेकर जो बाते बताई है काफी अच्छी लगी हम इसी को लेकर यह जानना चाहते है की सरवती माता की मूर्ति घर पर लाने के पश्चात किस प्रकार की विधि के द्वारा पूजा करनी चाहिए सरस्वती माता की ताकि माता की कृपा हमारे घर पर बनी रहे ???

  9. कुछ लोगो का कहना है की भगवन शिव भोलेनाथ की मूर्ति ही सिर्फ घर पर रख सकते है शिवलिंग को नहीं रख सकते हम जानना चाहते है की इसके पीछे की वजह क्या हो सकती है ??

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

× 9 = 45

Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!
- Advertisment -

RECENTLY ADDED

- Advertisment -

Must read

CURRENT SALE

spot_img